देश

नई दिल्ली(14 जुलाई): अमेरिका के दो  विशेषज्ञों हैंस एम. क्रिस्टेंसन और रॉबर्ट एस. नॉरिस ने 'इंडियन न्यूक्लियर फोर्सेज़-2017' शीर्षक से प्रकाशित अपने लेख में लिखा है कि भारत अब एक ऐसी मिसाइल विकसित कर रहा है, जिससे दक्षिण भारतीय बेस से भी पूरे चीन पर निशाना मार सकेगा। इन दोनों विशेषज्ञों के मुताबिक भारत की परमाणु नीति में अब पाकिस्तान की बजाय चीन पर ज़्यादा ध्यान दिया जा रहा है।

नई दिल्ली (13 जुलाई): लालू यादव और उनके परिवार पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद महागठबंधन में गांठ लगातार बढ़ता जा रहा है। मुख्यमंत्री नीतिश कुमार जहां भ्रष्ट्राचार को लेकर अपनी क्लीन छवि को बरकरार रखना चाहते हैं वहीं लालू यादव नहीं चाहते हैं उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव उप मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे।

जेडीयू और आरजेडी के बीच जारी इस तनातनी के बीच कांग्रेस नहीं चाहती है कि ये महागठबंधन किसी भी सूरत में टुटे। इसी कड़ी में मंगलवार को राहुल गांधी और फिर बुधवार को सोनिया गांधी ने नीतीश कुमार से बात की। सोनिया गांधी ने नीतीश कुमार से साफ कहा है कि किसी भी सूरत में महागठबंधन नहीं टूटनी चाहिए साथ ही उन्होंने कहा कि भष्ट्राचार से भी कोई समझौता नहीं होगा। फिलहाल सोनिया गांधी लालू और नीतीश के बीच मध्यस्थता कर विवाद को सुलझाने में जुटी है।

इन सबके बीच 22 और 23 जुलाई को दिल्ली में जेडीयू की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होने जा रही है। इस बैठक में शामिल होने के लिए जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार भी दिल्ली आएंगे। इस दौरान वो सोनिया गांधी से भी मुलाकात करेंगे।

नई दिल्ली (11 जुलाई): अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमले पर गृहमंत्रालय में आपात बैठक जारी है। मीटिंग में गृहमंत्री राजनाथ सिंह के साथ एनएसए, सीआरपीएफ, आईबी, RAW और सुरक्षा एजेंसियों के प्रमुख शामिल है। जम्मू-कश्मीर के साथ-साथ देश भर में सुरक्षा व्यवस्था पर अहम बैठक हो रही है।

आतंकी हमले के बाद पूरे देश में सुरक्षा एजेंसियों को हाई अलर्ट कर दिया गया है। सभी टॉप अफसर सुरक्षा हालात की समीक्षा में लगे हुए हैं। यूपी में कांवड़ यात्रा पर निकलने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा चाक-चौबंद करने के आदेश दिए गए हैं। इस बीच, गृह मंत्रालय की एक टीम श्रीनगर रवाना हो गई है।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के आई मुनीर खान ने बताया है कि इस हमले के पीछे लश्कर का हाथ है, जिसका मास्टरमांड पाकिस्तान में बैठा इस्माइल बताया जा रहा है। आपको बता दें कि सोमवार शाम अमरनाथ यात्रियों की बस पर हुए आतंकी हमले में 7 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 32 लोग घायल हो गए थे। ये श्रद्धालु दर्शन के बाद वापस लौट रहे थे।

नई दिल्ली (10 जुलाई): लालू परिवार पर सीबीआई के कसते शिकंजे के बाद बिहार में उठा राजनीतिक बवंडर थमने का नाम नहीं ले रहा है. एक ओर जहां विरोधी दल तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर अड़े हैं तो वहीं दूसरी ओर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 'मौन व्रत' धारण कर लिया है. नीतीश कुमार ना तो आज लोक संवाद कार्यक्रम करेंगे ना ही कल दिल्ली में होने वाली विपक्ष की बैठक में शामिल होंगे.

आपको बता दें कि नीतीश कुमार ने आज होने वाला जनता दरबार यानी लोक संवाद कार्यक्रम रद्द कर दिया है. इसके पीछे उन्होंने अपनी खराब सेहत का हवाला दिया है. इसके साथ-साथ दिल्ली में विपक्ष की वाइस प्रेसिडेंट के उम्मीदवार को लेकर होने वाली बैठक में भी नीतीश कुमार नहीं जाएंगे.

शरद यादव होंगे विपक्ष की बैठक में शामिल

जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव ने लालू के परिवार पर हुए सीबीआई छापों को बदले की कार्रवाई बताया है. 'आज तक' से हुई खास बातचीत में शरद यादव ने कहा कि यह महागठबंधन को रोकने की कार्रवाई है. जब से गठबंधन की बात हो रही है यह कार्रवाई हो रही है. नीतीश कुमार के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि नीतीश बिहार के हालात की वजह से कल दिल्ली में होने वाली विपक्ष की बैठक में शामिल नहीं हो पाएंगे. हालांकि उन्होंने यह जरूर कहा कि विपक्ष की बैठक में पार्टी की तरफ से वे खुद शामिल होंगे. आपको बता दें कि उपराष्ट्रपति उम्मीदवार चुनने के लिए कल संसद में विपक्षी दलों की बैठक होनी है.

किसी से बात नहीं कर रहे हैं नीतीश कुमार 

लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर सीबीआई छापों के बाद नीतीश कुमार ने मौन व्रत धारण कर लिया है. कहा गया है कि उनकी तबीयत खराब है. इसलिए वह किसी से बात नहीं कर रहे हैं. लेकिन कल नीतीश कुमार में जेडीयू की एक बैठक बुलाई है. माना यह जा रहा है कि नीतीश कुमार तमाम राजनीतिक घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए हैं. इसलिए सोची समझी रणनीति के तहत वह सीबीआई छापा पर कुछ नहीं बोल रहे हैं. इसी वजह से उन्होंने आज जनता दरबार रद्द कर दिया है और दिल्ली की कल विपक्ष की बैठक में भी वह नहीं जाएंगे.

लोगों का मानना है कि नीतीश कुमार खुद की तबीयत का बहाना बनाकर सीबीआई छापे पर कुछ नहीं बोले हैं. इतना ही नहीं उन्होंने तमाम पार्टी नेताओं और प्रवक्ताओं को भी इस पूरे मामले पर चुप्पी साधने को कहा है. अभी सबकी नजरें कल नीतीश कुमार बुलाई गई जेडीयू विधायकों और वरिष्ठ नेताओं की बैठक पर लगी है कि वह लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर सीबीआई मामलों पर क्या स्टैंड लेते हैं.

Page 3 of 8
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…