×

Warning

JUser: :_load: Unable to load user with ID: 558

तकनीक (12)

तकनीक

तकनीक की खबरें 

पेमेंट ऐप BHIM को रविवार को ios प्लेटफार्म पर लॉन्च कर दिया गया है। BHIM ऐप को सरकार ने फास्ट और सिक्योर कैशलेस ट्रांजैक्शन के लिए डेवेलप किया है।

सैमसंग के बेस्टसेलिंग प्रोडक्ट्स पर मिल रहा है स्पेशल वैलेंटाइन ऑफर

नीती आयोग ने ट्विट करके यह जानकारी दी कि ios के लिए बहुप्रतिक्षित ऐप BHIM अब ऐपस्टोर पर मौजूद है। ऐपल यूजर्स भीम को अब डाउनलोड कर सकते हैं। भारत इंटरफेस फॉर मनी (BHIM) पहले सिर्फ एंड्राइड पर ही मौजूद था।

लॉन्च से पहले नजर आई Skoda की लिमिटेड एडिशन Octavia 

BHIM ऐप को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 30 दिसंबर को लॉन्च किया था। ताकि मोबाइल से फास्ट और आसान पेमेंट किया जा सके। इसे इस तरह से डिजाइन किया गया है ताकि इससे UPI और USSD मोड के जरिए आसानी से पेमेंट किया जा सके।

Jio जल्द अपने यूजर्स को देगा 6-सीरीज मोबाइल नंबर

पिछले महीने आईटी मिनिस्टर रवि शंकर प्रसाद ने जानकारी दी थी कि BHIM ऐप की डाउनलोडिंग 1 करोड़ से भी पार हो गई है। नोटबंदी के बाद से ऐसे सभी ऐप को काफी हाइक मिली थी।

नई दिल्ली : आपने ऐसे फोन्स देखें होंगे जो पानी में डुबने पर भी चलता रहते हैं, या जो पटकने के बाद भी टूटते नहीं। पर अब हम आपको एक ऐसे फोन के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे आप गंदा होने पर साबुन से रगड़-रगड़ कर धो भी सकते हैं। 

जापानी कंपनी Kyocera ने एक Rafre नाम का स्मार्टफोन लॉन्च किया है। जिसे आप गंदा होने पर साबुन से धो भी सकते हैं। मतलब फोन के गंदा होने पर आप इसे उसी तरह धो सकते हैं जिस तरह अपने हाथ को धोते हैं। इस एंड्राइड स्मार्टफोन की दूसरी खासियत ये भी है कि इस स्मार्टफोन के टच स्क्रीन के गीले के होने के बाद भी आप इसे टच कर पाएंगे।

नई दिल्ली : 14 फरवरी को दुनायाभर में लोग वेलेंटाइन डे के रुप में मनाते हैं। इस मौके पर तमाम लोगों की चाहत होती है कि उसका भी कोई ना कोई वेलेंटाइन हो। ऐसे में कई ऐसे लोग भी होते जिनका कोई पार्टनर नहीं होता और उन्हें इसकी तलाश रहती है। ऐसे में मायूस होने की जरूरत नहीं, क्योंकि अब ऐसे मोबाइल फोन एप्स भी आ चुके हैं लोगों के लिए अच्छा सा फ्रेंड यानी पार्टनर ढूंढ कर फ्रेंडशिप करने में मदद करते हैं।

ये ऐसे डेटिंग एप्स हैं जिन्हें फ्री में डाउनलोड किया जा सकता है और यूज भी बहुत ही सिंपल है। यहां हम आपको बता रहे हैं ऐसे ही डेटिंग एप्स के बारे में जो लोगों को उनके लिए अच्छा सा पार्टनर खोज कर उनकी फ्रेंडशिप करवाने का काम करते हैं।

Tinder...

ऐसा ही एक डेटिंग एप है ट्रेंडर, इसके लाखों यूजर्स हैं। फ्री में उपलब्ध यह एप फेसबुक के आधार पर यूजर के आसपास के लोगों की प्रोफाइल दिखाता है। इसके बाद यदि दोनों लोग एक दूसरे को पसंद करते हैं तो वे एक दूसरे से चैटिंग कर सकते हैं। चैटिंग में यदि एक दूसरे को पसंद आ गए तो एक अच्छे फ्रेंड के तौर पर बात आगे भी बढ सकती है। 

Okcupid...

यह मोबाइल डेटिंग एप लगभग फेसबुक की ही तरह काम करता है। इसके जरिए आप यूजर्स ईमेल समेत चैटिंग भी कर सकते हैं साथ ही अपनी विस्तृत प्रोफाइल बना सकते हैं। इसके अलावा दूसरे लोगों की प्रोफाइल भी देख सकते हैं। यह एप आपसे कुछ सवाल करता है और फिर आपके जवाबों के आधार पर आपको ऎसी प्रोफाइल्स दिखाता है जिनके जवाब आपसे मिलते जुलते हैं। यह एक ऎसा एप है जो सामान मानसिकता वाले लोगों को मिलाने का प्रयास करता है। 

Thrill...

इस एप को भारतीय परिवेश में महिलाओं के लिए सुरक्षित कहा जा सकता है। यह एप यूजर्स को लोकेशन के आधार पर दूसरों की प्रोफाइल्स दिखाता है। यूजर्स को दूसरो की प्रोफाइल को देख उन्हें आंकना होता है। यह एप अंकों के आधार पर आपको कुछ लोगों से जोड़ता है। इस एप में महिलाएं कभी भी इसमें शामिल हो सकती हैं लेकिन पुरूषों को इसके लिए आवेदन करना पड़ता है।

Woo...

यह एप वू सामान सोशल नेटवर्क, साझा रूचियों के आधार आपको जोड़ता है। इस एप में शामिल होने के लिए एक गहन जांच प्रक्रिया होती है ताकि इसमें केवल सिंगल लोग ही शामिल हो सके। जुलाई 2014 में शुरू हुआ यह एप अब तक हजारों जोडे बनाने का दावा करता है।

Truly Madly...

यह एप डेटिंग साइट्स और वैवाहिक साइट्स के बीच की रेखा को मिटाता है। यह एप सोशल नेटवर्किग प्रोफाइल से जानकारी उठाकर ये आपके परिचय की पुष्टि के लिए आइडेंटिटी प्रूफ भी मांगता है। इसके बाद यह एप आपके धर्म,समुदाय और आय के आधार पर आपको सही साथी चुनने के लिए सही लोगों की प्रोफाइल्स दिखाता है।

 

नई दिल्ली: शायद आपको यह खबर किसी सपने की तरह लगे, लेकिन यह सौ फीसदी सच है। क्योंकि जुलाई से दुबई में उड़ने वाली एयर टैक्सी चलने लगेंगी। दुबई में ट्रैफिक की समस्या से निपटने के लिए यह कदम उठाया गया है।

वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में इन्हें पेश किया गया है और इन्हें जुलाई में पर्यटकों और आम सवारियों को ढोने के लिए उतार दिया जाएगा। यह घोषणा दुबई के सड़क एवं यातायात एजेंसी के प्रमुख मातर अल तायेर ने हाल ही में की है। चीन निर्मित इस टैक्सी का नाम ईहांग 184 है।

 

 

Page 3 of 3
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…