Friday, 16 August 2019 00:00

INTEGRITY RALLY BY ICES ACADEMY

Written by

Guwahati: On the occasion of 73rd Independence Day ICES ACADEMY conducted an Integrity rally to boost morale and patriotism among the youth of the Nation.

The most interesting about ICES ACADEMY is started by two dynamic youth Rajib Lochan Prasad Panda And Yasaswini Mukherjee of Berhampur(Odisha) in the far east state of Assam.

                                 

It organised a rally starting from Silpukhuri to Gandhi Mandap, which is also famous for having India’s highest national flag in terms of mean sea elevation.

The Participants were from the students and faculty members. The objective of this rally was to aware students and the people the importance of physical activities and team work.

The event started in the early morning at 06:00 hour and completed in 09:00 o clock.

 

                                                

The Independence Day celebration was consisting of Integrity Rally, Flag Hosting followed by reciting of National Anthem, exchange of sweets and watching Patriotic Movie.

ICES ACADEMY started with a vision to realize the potential of the youth and guide them to be the part of building nation. The uniqueness of this Academy is they don’t show doctored result. 

 

 

                                                 

Recently this Academy has produced many results in the field of Defense, Paramilitary forces and Assam state level examination in very short span of timi.e. less than a year.

FOUNDER: Shri. PURNA CHANDRA PAND

ADVISOR: Smt. SUJATA MUKHERJEE

 

कश्मीर पर भी सटीक बैठी अंक ज्योतिष डॉ मग्गो की भविष्यवाणी

देश में भारी उथल-पुथल का माहौल है, हर कोई जानना चहता है कि भारत की राजनीति की दिशा अब कहां जाएगी। इसी को लेकर हमने बात की जाने माने अंक ज्योतिष डॉ सुनील मग्गो से, जो पहले भी भारतीय राजनीती को लेकर सफल भविष्यवाणियां कर चुके हैं। डॉ सुनील मग्गो हमेशा 26 तारीख या मंगलवार को ही भविष्यवाणी करते हैं। इसके पहले जो 26 मार्च ,2019 को उनके द्वारा की गई भविष्यवाणी सटीक सिद्ध हुई थीऔर इकतरफा आये चुनाव के परिणाम और भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में सरकार बनी थी।

इसके बाद 26 मई,2019 को मंत्रिमंडल को लेकर भविष्यवाणी की वह भी सही साबित हुई।

मंत्रीमंडल में जेटली या पियूष गोयल के सिवा किसी तीसरे व्यक्ति को वित्त मंत्रालय मिलने की बात कही थी।अमित शाह गृह मंत्री बने और वित्त मंत्रालय भी मिला। किसी तीसरे व्यक्ति को गृह मंत्रालय मिला 

अमित शाह का कार्यकाल गृह मंत्री के रूप में कैसा रहेगा के उत्तर में डॉ मग्गो ने भविष्यवाणी की थी की गृह मंत्री के रूप में अमित शाह बहुत सफल रहेंगे और नई उचाइयां छुएंगे। भाजपा पूरे देश में और बलशाली होगी। कश्मीर समस्या का निदान होगा कभी।
डॉ मग्गो ने कहा था कि अंक ज्योतिष के अनुसार अप्रैल ,2020 तक कश्मीर समस्या का समाधान एक निर्णायक दौर तक पहुँच जायगा जिसमें अमित शाह का बहुत बड़ा योगदान होगा और अमित शाह वर्तमान  युग के सरदार पटेल के रूप में  स्थापित होंगे।

धारा 370 के बाद बदले हुए वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य पर डॉ मग्गो से बात की हमारी संवाददाता दीपांशी ने।

प्रश्न: भारत का राजनीतिक परिदृश्य अब क़्या कह रहा है।

उत्तर: अगस्त माह का नंबर 8 है जिसके स्वामी शनिदेव हैं।
मुझे लगता है अगस्त में राजनितिक उथल पुथल हो सकती है।

प्रश्न: कृपया विस्तार से बताएँ।

उत्तर: कुछ बड़े राजनितिक और आर्थिक फ़ैसले लिए जा सकते हैं जिनके दूरगामी परिणाम होंगे।

कुछ बड़े राजनेताओं जिनके वर्ष का योग 8 बनता है उन पर कष्ट आ सकता है।

प्रश्न: कांग्रेस पार्टी का क्या भविष्य लगता है आपको?

उत्तर: कांग्रेस धरातल की ओर जा रही है। अगस्त में कांग्रेस पार्टी विभाजित हो सकती है और कई बड़े नेता थाम सकते हैं भाजपा का दामन।

प्रश्न: डॉ साहब ये तो बहुत ही चौकाने वाली भविष्यवाणी है इसका कोई आधार।

उत्तर:इसके दो कारण है
पहला मोदी जी का नंबर है 8...और भारत स्वतंत्र हुआ 15.8.1947 जिसका योग भी 8 बनता है। भारत को स्वतंत्र हुए 71 वर्ष हो गए है जिसका योग भी 8 बनता है। अगस्त माह का नंबर भी 8 है।.

दूसरा कारण है अमित शाह जी का नंबर है 4 और भाजपा भी 40वें वर्ष में पदार्पण कर चुकी है।

धन्यवाद और आपसे फिर मिलेंगे एक और भविष्यवाणी को लेकर।

 

आइये बात करते हैं प्रसिद्ध अंक ज्योतिषी डॉ सुनील मग्गो से जो हमेशा 26 तारीख या मंगलवार को ही भविष्यवाणी करते हैं।जो 26 मार्च ,2019 को की थी फिर साबित हुई सच और इकतरफा आये चुनाव के परिणाम और भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में बनी नई सरकार।

26 मई,2019 को मंत्रिमंडल को लेकर भविष्यवाणी भी सच साबित हुई।

अमित शाह ही बने गृह मंत्री और वित्त मंत्रालय भी मिला जेटली जी या पियूष गोयल के सिवा किसी तीसरे व्यक्ति को।


अमित शाह का कार्यकाल गृह मंत्री के रूप में कैसा रहेगा के उत्तर में आपने भविष्यवाणी की थी की गृह मंत्री के रूप में अमित शाह बहुत सफल रहेंगे और नई उचाइयां छुएंगे।

भाजपा पूरे देश में और बलशाली होगी।

कश्मीर समस्या का निदान होगा कभी।
आपने कहा था कि अंक ज्योतिष के अनुसार अप्रैल ,2020 तक कश्मीर समस्या का समाधान एक निर्णायक दौर तक पहुँच जायगा जिसमे अमित शाह का बहुत बड़ा योगदान होगा।

और अमित शाह वर्तमान युग के सरदार पटेल के रूप में स्थापित होंगे।

कश्मीर समस्या का समाधान तो कल 5अगस्त ,2019 को ही कर दिया अमित शाह जी ने...

प्रश्न : आपने पिछले साक्षात्कार में कहा था कि आप अधिकतर भविष्यवाणी मंगलवार या 26 तारीख़ को करते हैं परंतु इस बार हम उत्सुकतावश आपके पास 6 अगस्त ,2019 को ही साक्षात्कार करने आ गए।

आपने जो कहा था वो सब सच साबित हुआ।

प्रश्न: क्या कहना है आपका प्रधान मंत्री मोदी जी और गृह मंत्री अमित शाह जी के बारे में।

उत्तर: संजोग से आज भी मंगलवार है और तिथि 6.8.2019 है जिसका योग 26 बनता है।
अभी तो अमित शाह जी ने पहला कदम उठाया है।
जैसा की मैंने कहा था कि अप्रैल 2020 तक कश्मीर समस्या का निदान हो जाएगा ।
अब भारत एक नई शक्ति के साथ उभरेगा।
और बदलेगा भारत और पाकिस्तान का नक़्शा।

प्रश्न: आपने पहले ही अमित शाह जी के बारे में बहुत अच्छी भविष्यवाणी की हैं।
लगता है आपका विशेष स्नेह है उनसे।

उत्तर: जी, शायद अंको का और दिन का असर है।
प्रधान मंत्री मोदी जी की तरह मेरा नम्बर भी 8 है और अमित भाई शाह की तरह मेरा जन्म दिन भी बृहस्पति वार का है।

यही कारण है कि अमित शाह जी से लगाव का।

डॉ साहब आपका धन्यवाद और आपसे फिर मिलेंगे एक और भविष्यवाणी को लेकर।

आइये बात करते हैं प्रसिद्ध अंक ज्योतिषी डॉ सुनील मग्गो से जो हमेशा 26 तारीख या मंगलवार को ही भविष्यवाणी करते हैं।

जो 26 मार्च ,2019 को की थी फिर साबित हुई सच और इकतरफा आये चुनाव के परिणाम और भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में बनी नई सरकार।

26 मई,2019 को मंत्रिमंडल को लेकर भविष्यवाणी भी सच साबित हुई।


फिर बात करते हैं डॉ सुनील मग्गो से।
डॉ साहब 8 जून को आपने कहा था कि क्रिकेट वर्ल्ड कप के लिए 26 जून को मिले।

आजकल हर तरफ क्रिकेट का बुखार चढ़ा हुआ है और हर तरफ़ क्रिकेट का ही चर्चा है इसलिए हम पहले ही पहुँच गए आपके पास आज मंगलवार के दिन।


प्रश्न: क्या कहना है आपका कौन जीतेगा वर्ल्ड कप का ख़िताब।

उत्तर: मैं पूर्ण विश्वास के साथ कह सकता हूँ की भारत ही होगा विश्व कप का विजेता।

प्रश्न: ये आप एक भारतीय होने के कारण कह रहे हैं या ज्योतिष के आधार पर।

उत्तर:भारतीय होने के नाते तो मैं चाहता हूँ की भारत केवल क्रिकेट का ही नहीं अपितु पूरे विश्व का विजेता और सबसे समृद्ध और शक्तिशाली देश बने।
पर भारत जीतेगा 2019 का क्रिकेट विश्व कप ये मैं अंक ज्योतिष के आधार पर ही कह रहा हूँ।

प्रश्न: डॉ साहब क्या आधार है इसका।

उत्तर: आपने सुना होगा 36 का आंकड़ा।
36 नंबर का अंक ज्योतिष में बहुत महत्त्व है।आज तिथि है 18.6.2019 और दिन मंगलवार।
18+6+12 का जोड़ भी 36 ही बनता है।


प्रश्न: क्या महत्त्व है इस 36 नंबर का।

उत्तर: भारत पहला क्रिकेट वर्ल्ड कप इंग्लैंड में 1983 में जीता था।
1983 में 36 जोड़ेंगे तो 2019 आयेगा और ये वर्ल्ड कप भी इंग्लैंड में हो रहा है।
अंक जब विपरीत दिशा में आते हैं तो इतिहास की पुनरावृत्ति अवश्य होती है।
1983 का जोड़ बनता है 21
2018 का जोड़ बनता है 12

जब भारत 1983 में जीता था तो कप्तान थे KAPIL DEV.. जिनके नाम का जोड़ बनता है 35

और VIRAT KOHLI ..के नाम का जोड़ बनता है 53

विराट कोहली का जन्म है 5.11.1988 जिसका मूलांक है 5 और भाग्यांक बनता है 24

फाइनल मैच 14.7.2019 को खेला जायेगा जिसका मूलांक भी 5 है और भाग्यांक बनता है 24

ये अंक यही इशारा करते हैं कि भारत ही बनेगा फिर से क्रिकेट का बेताज बादशाह।

 


प्रश्न: वाह डॉ साहब आपने तो बहुत अच्छे से विश्लेषण कर दिया।
लगता है निश्चय ही भारत ही जीतेगा वर्ल्ड कप।


उत्तर: अंक ज्योतिष के अनुसार तो ऐसा ही प्रतीत होता है बाकी बजरंग बली और शनिदेव जी की कृपा होगी तो अवश्य जीतेगा भारत।

देखते हैं क्या होगा भविष्य में और क्या फिर सच होती है डॉ सुनील मग्गो जी की ये भविष्यवाणी।

डॉ साहब आपका धन्यवाद और आपसे फिर मिलेंगे एक और भविष्यवाणी को लेकर।


आइये बात करते हैं प्रसिद्ध अंक ज्योतिषी डॉ सुनील मग्गो से भारतीय क्रिकेट के उभरते सितारों के बारे में

प्रश्न: आपके द्वारा विराट कोहली के बारे में की गई हर भविष्यवाणी अभी तक सच सिद्ध साबित हुई। कौन होगा भारत का चमकने वाला अगला क्रिकेट का सितारा।

उत्तर: मुझे लगता है वो नाम है ऋषभ पन्त जो भारतीय क्रिकेट में धूमकेतु की तरह उभरेगा और धूम मचा देगा।

प्रश्न: ऐसा क्या विशेष है ऋषभ में वो तो अभी तक भारतीय टीम का हिस्सा भी नहीं है।

उत्तर: ऋषभ जल्दी ही भारतीय टीम का हिस्सा बनेगा और उसके कैरियर का आरम्भ होगा वो दिन शनिवार होगा।

प्रश्न: विराट और ऋषभ में क्या समानता देखते हैं आप।

उत्तर: विराट और ऋषभ दोनों का जन्म शनिवार का है।

विराट के जन्म का वर्ष है 1988 जिसका योग 26 बनता है।

ऋषभ के जन्म का वर्ष है 1997 जिसका योग भी 26 बनता है।
नंबर 26 के स्वामी शनि हैं।

दोनों को पिता का सुख नहीं मिल पाया।

प्रश्न: क्या ऋषभ खेलेंगे अगले वर्ष होने वाला वर्ल्ड कप में।

उत्तर: अवश्य, कुछ अड़चन आ सकती है अंतत: ऋषभ अवश्य खेलेगा वर्ल्ड कप।

प्रश्न: कैसे देखते है आप ऋषभ का भविष्य।

उत्तर: ऋषभ आने वाले समय में बहुत अच्छा प्रदर्शन करेंगे और अपने को स्थापित करेंगे।

प्रश्न: आपने भविष्यवाणी की थी कि विराट कोहली भारतीय टीम के कप्तान बनेंगे जो सच साबित हुई।
क्या कहना है आपका ऋषभ के बारे में।

उत्तर: अभी तो ऋषभ की टीम में जगह भी नहीं बनी।
लेकिन मुझे विश्वास है कि वो भारतीय टीम का हिस्सा भी बनेगा और विराट की तरह ही भारतीय टीम का कप्तान भी ।

प्रश्न: इतने यकीन के साथ आप ये सब कैसे कह सकते हैं।

उत्तर: ये सब अंक ज्योतिष के आधार पर कह रहा हूँ।
मैंने विराट के बारे में पहला ट्वीट किया था 19 मार्च, 2012 को।

और जब जब विराट का प्रदर्शन ख़राब हुआ मैंने विराट के लिए शनि आराधना की।
मैं आजकल ऋषभ के लिए भी शनि आराधना करता हूँ और मुझे यकीन है वो बनेगा भारतीय टीम का हिस्सा।
और बनेगा कप्तान 2024 में।

प्रश्न: लगता है आपका बहुत लगाव है दोनों से।

उत्तर: मेरे स्वामी भी शनि हैं अतः ये स्वाभाविक है।
मुझे दोनों अपने बच्चों की तरह लगते हैं।

डॉ साहब इतना ज्ञान होते हुए भी कितने सरल ह्रदय हैं आप।
धन्यवाद्

आइये बात करते हैं प्रसिद्ध अंक ज्योतिषी डॉ सुनील मग्गो से जिनकी भविष्यवाणी जो 26 मार्च ,2019 को की थी फिर साबित हुई सच और इकतरफा आये चुनाव के परिणाम और भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में बनी नई सरकार।

26 मई,2019 को मंत्रिमंडल को लेकर भविष्यवाणी भी सच साबित हुई।

अमित शाह ही बने गृह मंत्री और वित्त मंत्रालय भी मिला जेटली जी या पियूष गोयल के सिवा किसी तीसरे व्यक्ति को।

फिर बात करते हैं डॉ सुनील मग्गो से क्या होगा भविष्य में।

प्रश्न: अमित शाह का कार्यकाल गृह मंत्री के रूप में कैसा रहेगा।

उत्तर: गृह मंत्री के रूप में अमित शाह बहुत सफल रहेंगे और नई उचाइयां छुएंगे।
भाजपा पूरे देश में और बलशाली होगी।

प्रश्न: क्या कश्मीर समस्या का निदान होगा कभी।

उत्तर: अंक ज्योतिष के अनुसार अप्रैल ,2020 तक कश्मीर समस्या का समाधान एक निर्णायक दौर तक पहुँच जायगा जिसमे अमित शाह का बहुत बड़ा योगदान होगा।

प्रश्न: तो क्या अमित शाह एक शक्तिशाली नेता के रूप में स्थापित होंगे।

उत्तर: अमित शाह वर्तमान युग के सरदार पटेल के रूप में स्थापित होंगे।

प्रश्न : आपने पिछले साक्षात्कार में कहा था कि आप अधिकतर भविष्यवाणी मंगलवार या 26 तारीख़ को करते हैं परंतु इस बार हम आप् के पास 8 जून,2019 को ही साक्षात्कार करने आ गए।

उतर: 8 नंबर के स्वामी शनि देव हैं।
और संजोग से 8.6.2019 के जोड़ भी 26 ही बनता है।

प्रश्न: क्या अमित शाह जी के गृह मंत्री बनने के बाद आपकी भेंट हुई उनसे।

उत्तर: नहीं अभी भेंट तो नहीं हुई , पर मुझे लगता है कि उनसे जब भेंट होगी तो या उस दिन तिथि 4 होगी या गुरुवार होगा।

प्रश्न: प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत को कैसे देखते हैं आप।

उत्तर: भारत एक सशक्त और शक्तिशाली देश के रूप में स्थापित होगा।

प्रश्न: कैसे होगा ये सब।

उत्तर: भारत वर्ष 1947 में स्वतंत्र हुआ। जब 47 के अंक बदलकर 74 होंगे यानि ठीक 74 वर्ष बाद 2022 में कुछ महत्वपूर्ण घटना होगी जिसके दूरगामी परिणाम होंगे।


देखते हैं क्या होगा भविष्य में और क्या फिर सच होती है डॉ सुनील मग्गो जी की ये भविष्यवाणी।

डॉ साहब आपका धन्यवाद और आपसे फिर मिलेंगे एक और भविष्यवाणी को लेकर।

डॉ सुनील मग्गो: अवश्य अब आप मिलें 26 जून ,2019 को।

आइये बात करते हैं प्रसिद्ध अंक ज्योतिषी डॉ सुनील मग्गो से जिनकी भविष्यवाणी जो 26 मार्च ,2019 को की थी फिर साबित हुई सच और एकतरफा आये चुनाव के परिणाम।

प्रश्न : आपने पिछले साक्षात्कार में कहा था कि आप अधिकतर भविष्यवाणी मंगलवार या 26 तारीख़ को करते हैं और संजोग से आज भी 26 तारीख़ है।
क्या कहना है आपका नए मंत्रिमंडल के बारे में।


उत्तर : प्रधानमंत्री मोदी जी 30 मई ,गुरुवार को शपथ ले रहे हैं।
3 नंबर के स्वामी गुरु हैं और अमित शाह जी का जन्म गुरुवार का है।
अतः इस मंत्रिमंडल में उनकी विशेष भूमिका होगी।

प्रश्न: क्या प्रस्तावित मंत्रिमंडल में होंगे परिवर्तन।

उत्तर: मैं समझता हूँ की कम से कम चार बड़े चेहरे नहीं होंगे नए मंत्रिमंडल में।

प्रश्न: अमित शाह की क्या भूमिका होगी। क्या वो नए गृह मंत्री होंगे।

उत्तर: मेरे अनुसार उन्हें गृह या वित्त मंत्रालय का कार्यभार मिल सकता है।


प्रश्न: तो क्या अरुण जेटली या पियूष गोयल नहीं बनेंगे वित्त मंत्री।

उत्तर: मुझे ऐसा ही प्रतीत होता है की इन दोनों के सिवा कोई तीसरा होगा वित्त मंत्री।

प्रश्न: लगता है आपका अमित शाह से बहुत लगाव है। आपकी भेंट कब हुई उनसे।

उत्तर: मैं उनसे मिला तो नहीं कभी पर मेरा लगाव अवश्य है उनसे क्योंकि मेरा जन्म भी उनकी तरह गुरुवार का है।

 

देखते हैं क्या होगा भविष्य में और क्या फिर सच होती है डॉ सुनील मग्गो की ये भविष्यवाणी।

डॉ साहब आपका धन्यवाद और आपसे फिर मिलेंगे एक और भविष्यवाणी को लेकर।

इस बार चर्चा करेंगे क्रिकेट वर्ल्ड कप को लेकर।

डॉ सुनील मग्गो: अवश्य

भारत में आज कल चुनाव आते ही लोग अलग-अलग राजनीतिक दलों की विचारधारा को लेकर अक्सर अपनों से ही लड़ बैठते हैं. लोग इस बात को जरा भी नहीं समझते कि नेता और राजनीति के चक्कर में वो अपने दोस्तों से रिश्ते खराब कर बैठेंगे. इसी बात को दर्शाती हुई एक तस्वीर इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसमें एक कार के अंदर अलग-अलग पार्टियों के झंडे लेकर युवक बैठे हुए हैं और यह मैसेज दे रहे हैं कि दोस्ती सबसे आगे है.

दरअसल, वायरल हो रही तस्वीर केरल की बताई जा रही है. इसमें एक कार में कुछ युवक बीजेपी, कांग्रेस, भाकपा के झंडे लेकर बैठे हुए है. कहा जा रहा है कि दोस्ती का संदेश देने के लिए ये युवक सड़कों पर अलग-अलग पार्टियों के झंडे लेकर निकले थे. 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस तस्वीर को हजारों लोग शेयर और लाइक कर चुके हैं. लोगों ने तरह-तरह के कमेंट भी इसके साथ शेयर किए हैं.

लोगों का कहना है कि यह तस्वीर असली इनक्रेडिबल इंडिया की है. यह केवल केरल में ही हो सकता है. यहां इलेक्शन खत्म हो गए हैं इसके बावजूद दोस्त आज भी साथ हैं.

एक ट्विटर यूजर अश्वथ ने यह भी कहा कि यह बेहद खूबसूरत तस्वीर है. दोस्ती और रिश्ते ही मायने रखते हैं. इनके बीच राजनीतिक विचारधाराएं कभी भी नहीं आनी चाहिए.

 

 

वहीं, एक ट्विटर यूजर आदर्श ने लिखा कि मैंने कई दोस्तों को राजनीतिक विचारधारा पर लड़ते हुए देखा है जिनके बीच अब बात बंद हो चुकी है. यह केवल राजनीतिक विचारधारा पर विवाद के दौरान हुआ है. ऐसा माहौल मैंने इसके पहले कभी नहीं देखा. यह फोटो हमें दोस्ती की सीख दे रही है.

मालूम हो कि लोकसभा के लिए सात चरणों में मतदान हो रहा है. अब तक तीन चरण के मतदान निपट चुके हैं. चौथे चरण का मतदान 29 अप्रैल को होगा.

 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का देश के सबसे गरीब 5 करोड़ परिवारों के लिये न्यूनतम आय योजना शुरू करने का वादा सामाजिक सुरक्षा के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को प्रतिबिंबित करता है लेकिन इसका वित्त पोषण एक मुश्किल कार्य हो सकता है। कुछ प्रमुख अर्थशास्त्रियों तथा समाज विज्ञानियों ने यह कहा है। राहुल गांधी न्यूनतम आय गारंटी योजना और रोजगार के वादे चुनावी रैलियों में पहले ही कर चुके हैं. आज कांग्रेस के चुनावी घोषणापत्र में सबकुछ विस्तार से बताया जाएगा. दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय में राहुल गांधी की मौजूदगी में वादों का पिटारा खुलेगा. हर गरीब परिवार को सालाना 72 हजार रुपए देने का वादा कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है. आखिरी ये 72,000 का फॉर्मूला कैसे तय हुआ ? किस आधार पर 72,000 रुपये सालाना न्याय तय हुआ? इस के पीछे एक कहानी है.राहुल गांधी ने डा मनमोहन सिंह और चिदंबरम को न्याय स्कीम को लागू करने की ज़िम्मेदारी दी थी. मनमोहन सिंह ने इसकी चर्चा अरविंद सुब्रमण्यम, कौशिक बसु और रघुराम राजन से की और कांग्रेस अध्यक्ष से इन तमाम अर्थशास्त्रियों की बात भी करवायी. राहुल गांधी ने चिदंबरम से भी कहा कि मैं कोई ऐसा वादा नहीं करना चाहता जिसको हम पूरा ना कर सकें. इस मीटिंग के बाद राहुल गांधी मीडिया के सामने आए और कहा 20% लोगों को 72000 सालाना देंगे और कांग्रेस ग़रीबी रेखा से बाहर निकालेगी.

 

कांग्रेस के रिसर्च सेल के मुताबिक आजादी के समय देश में 70 फीसदी लोग गरीब थे. लेकिन कांग्रेस सरकारें काफी मेहनत कर इसे 20 फीसदी तक लेकर आई हैं. अब गरीबी पर अंतिम वार करने का वक्त आ गया है. कांग्रेस का लक्ष्य 20 फीसदी गरीबी को हटाकर शून्य तक लाना और देश से गरीबी को पूरी तरह से खत्म करना है. यह योजना आर्थिसक न्याय प्रदान करेगी और गरीबों को गरिमा एवं सम्मान के साथ जीने का मौका देगी. गरीबों के हाथ में पैसा जाने से उपभोग बढ़ेगा और इससे रोजगार बढ़ेगा, कर राजस्व भी बढ़ेगा. देश में आय असमानता तेजी से बढ़ रही है. दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होने के नाते यह हम सब का नैतिक दायित्व है कि देश से गरीबी को पूरी तरह से खत्म करने का महत्वाकांक्षी काम हाथ में लें. कांग्रेस साल 2030 तक देश से गरीबी को पूरी तरह से खत्म करना चाहती है.इस योजना का लक्ष्य 5 करोड़ सबसे गरीब परिवार हैं जो जनसंख्या का 20 फीसदी हिस्सा हैं. पैसा सीधे परिवार की महिला के खाते में जाएगा. अगर उसके पास बैंक खाता नहीं है तो उसे खुलवाया जाएगा.

योजना को लागू करने के लिए कांग्रेस वित्तीय अनुशासन और विवेकपूर्ण खर्च का तरीका अपनाएगी. इसे केंद्र और राज्य सरकारों की संयुक्त योजना के रूप में लागू किया जाएगा. लेकिन लागत का मुख्यत: केंद्र सरकार वहन करेगी. इस योजना को राजस्व के नए स्रोत जुटाने और मौजूदा खर्च को तर्कसंगत बनाकर लागू किया जाएगा. रिसर्च सेल ने कहा कि जब कांग्रेस ने मनरेगा लागू किया था, तब भी बीजेपी और विपक्ष इसे बहुत महत्वाकांक्षी और खर्चीला बता रहे थे. मनरेगा के शुरुआती दौर में इस पर खर्च जीडीपी के 0.6 फीसदी तक था जो बाद में घटकर 0.3 फीसदी तक रह गया. बीजेपी अगर बुलेट ट्रेन के लिए 1 लाख करोड़ रुपये की व्यवस्था कर सकती है तो आर्थिकक न्याय के लिए कांग्रेस इतनी रकम की व्यवस्था कर सकती है.

आज जो डेटा मौजूद है उससे आसानी से गरीब परिवारों की पहचान हो सकती है. साल 2011 का सामाजिक-आर्थिबक जाति जनगणना और परिवार के आंकड़े से मदद मिल सकती है. पीएम आवास योजना के लिए लाभार्थिजयों की पहचान के लिए भी इस डेटा को आधार बनाया गया था. अंत्योदय अन्न योजना, आयुष्मान भारत, उज्ज्वला, पीएम आवास योजना, पीएम किसान योजना जैसी स्कीमों से संबंधित डेटा मिल जाएगा.यह योजना कई चरणों में लागू होगी. मनरेगा योजना भरी कई चरणों में लागू की गई थी. कांग्रेस अर्थशास्त्रियों, समाजशास्त्रिगयों और सांख्यकीविदों की एक समिति बनाएगी जो इस योजना की डिजाइन, शुरू करने और इसे लागू करने का पूरा काम देखेंगे. समिति से सब कुछ ठीक होने का संकेत मिलने के बाद ही इसका अगला चरण लागू किया जाएगा.

किसकी सलाह पर बनी योजना-कांग्रेस ने इस योजना के लिए देश और विदेश के कई अर्थशास्त्रियों, विशेषज्ञों की सलाह ली है. उदाहरण के लिए प्रख्यात ग्लोबल इकोनॉमिस्ट रघुराम राजन, थॉमस पिकेट्टी और अभिजीत बैनर्जी ने सार्वजनिक रूप से यह स्वीकार किया है कि उनसे इस योजना के बारे में सलाह ली गई है. इसके लिए गहन आर्थिकक विचार-विमर्श किया गया है. देश भर के परिवारों के आय वितरण आंकड़ों, परिवारों के खपत प्रवृत्ति, वैश्विक सर्वे और राज्य सरकारों तथा निजी क्षेत्र के भी आंकड़ों का अध्ययन किया गया.

 

 

 

 

कांग्रेस का घोषणापत्र जारी होने जा रहा है. रोजगार देने में फेल होने का आरोप लगाते हुए नरेंद्र मोदी के वादे की आलोचना करने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अब लोकसभा चुनाव से ठीक पहले इस संबंध में बड़ा ऐलान किया है. मोदी सरकार को रोजगार के मुद्दे पर घेरने वाले राहुल गांधी ने यह वादा लोकसभा चुनाव के लिए होने वाले पहले चरण के मतदान से दस दिन पहले किया है, जो काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. रविवार रात राहुल गांधी ने यह वादा एक ट्वीट के जरिए किया. राहुल ने अपने ट्वीट में लिखा है कि मौजूदा वक्त में करीब 22 लाख सरकारी नौकरियों के लिए पद खाली हैं. राहुल ने कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आई तो 31 मार्च 2020 तक इन सभी पदों को भरा जाएगा.


पिछले दिनों ही राहुल ने वादा किया था कि अगर सरकार बनी तो गरीबों के अकाउंट में 72 हजार रुपये सालाना डाले जाएंगे. 72 हजार रुपये महीने की योजना को लेकर आंध्र प्रदेश के विजयवाडा में कल राहुल ने कहा, 'मैं मोदी नहीं हूं. मैं झूठ नहीं बोलता हूं. उन्होंने कहा कि वह आपको 15 लाख रुपये देंगे. यह एक झूठ था. उनकी सरकार आपके बैंक अकाउंट में 15 लाख रुपये नहीं दे सकती लेकिन हमारी सरकार आई तो देश के सबसे गरीब लोगों को हर साल 72 हजार रुपये दिए जा सकेंगे.' इसके साथ ही राहुल गांधी ने वादा किया कि आगामी लोकसभा चुनावों में अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देंगे.

 

इससे पहले विजयवाड़ा में रविवार को एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर करारा हमला बोला. राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अंतिम लक्ष्य भारत के संविधान को नष्ट करना है, क्योंकि उन्हें आरएसएस का सपना पूरा करने में यह संविधान रोड़ा लगता है. राहुल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ऐसा कभी नहीं होने देगी. आंध्र प्रदेश में राहुल गांधी ने रविवार को दो चुनावी रैलियों को संबोधित किया. दोनों जगह उन्होंने दलितों, आदिवासियों और अल्पसंख्यकों पर हुए हमलों को लेकर नरेंद्र मोदी को निशाने पर रखा.

 

 

Page 1 of 17
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…