लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर बिहार महागठबंधन में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. सीटों के बंटवारे को लेकर कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल के बीच खींचतान अभी भी जारी है. कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीटों के बंटवारे पर दिल्ली में बैठक बुलाई है. वहीं बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री और विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने आज होने वाली तीन रैलियों को स्थगित कर दिया है.

 

 

तेजस्वी यादव आज सुबह करीब 12 बजे जमुई के गांधी उच्च विद्यालय के झाझा मैदान में एक रैली को संबोधित करने वाले थे. वहीं दोपहर करीब 1.25 बजे बोरा पत्थर मैदान, बांका और 3.10 बजे राजेन्द्र स्टेडियम मैदान, कटिहार में रैली करने वाले थे.प्रचार स्थगित करने को लेकर कहा जा रहा है कि तेजस्वी यादव की तबियत खराब हो गई है इस कारण उन्होंने आज होने वाली रैली को कैंसिल कर दिया है.वहीं राहुल गांधी की बैठक को लेकर कयासों का दौर शुरू हो चुका है. राहुल गांधी की इस बैठक में बिहार प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष मदन मोहन झा, बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल समेत कई अन्य बड़े नेता शामिल हैं.बिहार में सभी सात चरणों में मतदान होंगे. पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल को होगा जबकि सातंवें और अंतिम चरण का मतदान 19 मई को होगा. वोटों की गिनती 23 मई को होगी.

 सूत्रों के मुताबिक आरजेडी और कांग्रेस के बीच दरभंगा और सुपौल लोकसभा सीटों के बंटवारे पर पेंच फंसा हुआ है. बता दें कि इस समय कीर्ति आजाद दरभंगा से सांसद हैं.कीर्ति आजाद कांग्रेस पार्टी में दरभंगा से चुनाव लड़ने की शर्त पर कांग्रेस में शामिल हुए थे.संभवतः आज शाम करीब 6 बजे महागठबंधन की होने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस भी रद्द हो सकती है. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीटों के एलान के साथ-साथ उम्मीदवारों के नाम की भी घोषणा होने वाली है.

 

 

 

 

1 अप्रैल से लिस्टेरड कंपनियों के शेयरों का ट्रांसफर सिर्फ इलेक्ट्रॉननिक फॉर्म में ही किया जा सकेगा. हालांकि जिन निवेशकों के पास फिजिकल फॉर्म में शेयर हैं, वे इसे रख सकेंगे. भारतीय प्रतिभूति एवं विनमय बोर्ड (सेबी) की ओर से कहा गया, ''निवेशकों के अपने पास शेयरों को फिजिकल रखने पर पाबंदी नहीं होगी. हालांकि, अगर कोई निवेशक फिजिकल रखे शेयरों को ट्रांसफर करना चाहता है तो 1 अप्रैल 2019 के बाद ऐसा शेयरों के डीमैट रूप में होने के बाद ही किया जा सकेगा.शेयरों को अनिवार्य रूप से डीमैट या इलेक्ट्रॉ निक रूप में ट्रांसफर का निर्णय मार्च 2018 में किया गया था. सेबी ने दिसंबर 2018 में इलेक्ट्रॉ निक शेयर ट्रांसफर की समयसीमा बढ़ाकर 1 अप्रैल कर दी थी. अब सेबी ने इस समयसीमा को आगे नहीं बढ़ाने का निर्णय किया गया है. यानि यह नियम 1 अप्रैल 2019 से लागू होगा.  सेबी का कहना है कि डीमैट फॉर्म में शेयरों की खरीद-बिक्री से कंपनियों की शेयरहोल्डिंग का रिकॉर्ड पारदर्शी होगा.  इसके अलावा कंपनियों के स्वामित्व को लेकर विवाद में कमी आएगी.

वहीं सेबी ने सरकार को पंजाब नेशनल बैंक के शेयरधारकों के लिये खुली पेशकश लाने से छूट दे दी.  हालांकि, नियामक ने पूंजी डाले जाने के बाद बैंक में गैर-सार्वजनिक शेयर होल्डिंग में कटौती का निर्देश दिया. बता दें कि पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने फरवरी में केंद्र सरकार की तरफ से आवेदन देकर अधिग्रहण नियमन के तहत जरूरी खुली पेशकश से छूट देने की मांग की थी. सेबी नियमों के तहत अगर किसी इकाई की हिस्सेदारी एक निश्चित सीमा से अधिक हो जाती है तो उसे खुली पेशकश करने की आवश्यकता होती है. पीएनबी में पूंजी डाले जाने के बाद सरकारी हिस्सेदारी 5.19 फीसदी बढ़ेगी और यह 75.41 फीसदी हो जाएगी.

शेयरों का फिजिकल फॉर्म- पहले किसी कंपनी के शेयर खरीदने पर निवेशकों को शेयर प्रमाण पत्र दिया जाता था. इसे ही फिजिकल शेयर कहते हैं, यह प्रक्रिया ऑनलाइन नहीं होती है. लेकिन फिजिकल शेयर को डीमैट फॉर्म में बदलने के लिए निवेशकों को पहले एक डीमैट अकाउंट ओपन करवाना होगा. डीमैट अकाउंट ओपन करवाते वक्तप निवेशक को अपनी जानकारियां देनी होगी. डीमैट अकाउंट ओपन होने के बाद उन्हें हर शेयर के लिए डीमैट रिक्वेस्ट फॉर्म भरना होगा.  इसके बाद उनका फिजिकल शेयर डीमैट अकाउंट में ट्रांसफर होंगे.

 

 

 

Monday, 25 March 2019 00:00

Lead India Epaper

Written by
Lead India Current Issue
April 2019        
       7 April        14 April      21 April     28 April  
March 2019        
      31 March      24 March      17 March        10 March       3 March
February 2019        
     3 February     10 February     17 February     24 February  
January 2019        
     6 January     13 January     20 January     27 January  
December 2018        
    2 December    9 December    16 December    23 December    30 December
November 2018        
    4 November    11 November    18 November    25 November  
October 2019        
    7 October      14 October      21 October     28 October  
September 2019        
    2 September      9 September    16 September     23 September     30 September
August 2019        
    5 August     12 August     19 August     26 August  

 

नई दिल्ली॥ महाराष्ट्र में जन्मी राष्ट्रीय समाज पक्ष पार्टी ने अपने राष्ट्रव्यापी विस्तार के चरण में दिल्ली में दस्तक देते हुए अपना 15वा स्थापना दिवस मनाया।

पार्टी का अधिवेशन दिल्ली के कॉंस्टीट्यूशन क्लब में मनाया गया जिसमें मुख्य अतिथि केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री, भारत सरकार नितिन गडकरी थे और इस बैठक की अध्यक्षता महाराष्ट्र की महिला एवं बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे ने की। श्री नितिन गडकरी ने राष्ट्रीय समाज पक्ष (आरएसपी) को बधाई देते हुए कहा कि वो आरएसपी के उस मिशन की सराहना करते हैं जिसमें इसके संस्थापक श्री महादेव जानकर जी ने जाति पाति से ऊपर उठ कर  एक राष्ट्र का सपना देखा है। इस अवसर पर उन्होंने महादेव जानकर जी के साथ अपने संस्मरणो को भी सुनाया।

इसके अलावा अन्य अतिथिगण में गिरीराज सिंह, सूक्ष्म,लघु, मध्यम उद्योग राज्य मंत्री, रामदास अठावले, केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता, राज्य मंत्री, हंसराज अहीर, केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री, सुभाष भाम्बरे, केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री, श्रीमति अनुप्रिया पटेल, केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण राज्य मंत्री, स्वामी प्रसाद मौर्य, श्रम सेवा योजन एवं समंवयक केबिनेट मंत्री, उत्तर प्रदेश सरकार, डॉ प्रीतम मुंडे, संसद सदस्य, डॉ विकास महात्मे, संसद सदस्य उपस्थित थे। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फणनवीस अपरिहार्य कारणो से उपस्थित नहीं हो सके।

राष्ट्रीय समाज पक्ष के संस्थापक व कैबिनेट मंत्री महादेव जानकर ने अधिवेशन में कहा कि महाराष्ट्र से निकल कर अब आरएसपी देश भर में काम करने के लिये तैयार है। वर्तमान में महादेव जानकर महाराष्ट्र सरकार में पशुपालन, डेयरी विकास और मत्स्य विकास मंत्री हैं। उन्होंने कहा कि आरएसपी अभी कुछ राज्यों में काम कर रही है लेकिन मैं जब तक चैन से नहीं बैठने वाला जब तक संसद में हमारा प्रतिनिधित्व ना हो जाए।

उन्होंने कहा कि आरएसपी महाराष्ट्र में अभी एनडीए की एलाएंस है लेकिन 2019 के आम चुनाव में उनका लक्ष्य देश के हर राज्य से अपने उम्मीदवार खड़ा करने का है। इसके लिये पहले दिल्ली में अपनी जगह बनाना जरूरी है। हमने दिल्ली में पार्टी को खड़ा करने के लिये प्रदेश अध्यक्ष की कमान श्री सुभाष सिंह को सौंपी है जो एक जाने माने पत्रकार हैं।

दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष का कार्यभार मिलने पर जब श्री सुभाष सिंह से पूछा गया कि पार्टी को आगे बढ़ाने का उनका क्या लक्ष्य है तो उन्होने कहा कि सबसे पहले उनका काम दिल्ली में प्रदेश कमिटी बनाना होगा। कमिटी बन जाने के बाद वो पार्टी के एक राष्ट्र के सपने को साकार करने के लिये जानकर जी द्वारा दिखाई गाइड लाइन का पालन करेंगे। अधिवेशन में आरएसपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अक्कीसागर ने सुभाष सिंह को नियुक्ति पत्र सौंपा।

महिला एवं बाल विकास मंत्री पंकजा मुंडे ने समापन भाषण में कहा कि भाजपा अगर मेरी माँ है तो राष्ट्रीय समाज पक्ष पार्टी मेरी मौसी की तरह है, और कहते है कि माँ से ज्यादा प्यार मौसी से किया जाता है। इसी तरह मेरा प्यार मौसी से अधिक ही है। उन्होंने कहा कि पार्टी के संस्थापक और मेरे भाई महादेव जानकर जी के त्याग की बात करूं तो उन्होंने एक राष्ट्र के सपने के लिये राष्ट्रीय समाज पक्ष की स्थापना की और 27 सालों से अपने घर तक नहीं गये। ऐसा त्याग और ऐसी भावना राजनीति में अब कम देखने को मिल रही है। कॉंस्टीट्यूशन क्लब के पास ही मावलंकर हॉल में चल रहे नेशनल कॉंग्रेस के वार्षिक अधिवेशन पर चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा कि बगल वाले हॉल में ही देख लीजिये जहाँ एक और पार्टी का अधिवेशन चल रहा है, उन्हे देख कर ही आपको दोनो पार्टियो के जमीनी स्तर का फर्क समझ आ जाएगा। मेरी कामना है कि राष्टीय समाज पक्ष देश में जल्द ही अपना वर्चस्व बनाए।

पार्टी के वार्षिक अधिवेशन में उत्तर प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, हरियाणा, तमिलनाडु से 10 हजार से अधिक कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। इसमें बडी संख्या में उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के किसान भी शामिल थे।

श्रीनगर(26 अगस्त): जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिला पुलिस लाइन पर फिदायीन हमला हुआ है, जिसमें स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के जवान शहीद और सीआरपीएफ के 5 जवानों समेत 6 जवान घायल हुए हैं। घटना शनिवार सुबह हुई है।

-  जानकारी के मुताबिक हमले से पहले दो से तीन संदिग्ध आतंकियों को पुलिस लाइन इलाके में देखा गया, जिसके बाद उन्हें खत्म करने के लिए सीआरपीएफ के जवानों ने गोलीबारी की है। गोलीबारी में 1 SOG जवान शहीद और 6 सीआरपीएफ जवान जख्मी हुए हैं।

- खबर है कि मुठभेड़ में एक एसओजी जवान शहीद सहित छह जवान घायल हुए हैं।

नई दिल्ली (26 अगस्त): डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी ठहराए जाने के बाद पैदा हुई स्थिति से निपटने को लेकर निशाने पर आए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने स्वीकार किया कि चूक हुई है, लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि उचित कार्रवाई की जा रही है। हिंसा पर तीखे सवालों का सामना करते हुए खट्टर ने कहा ने कहा, 'चूक की पहचान की गई है और हम उचित कदम उठा रहे हैं। उन्होंने कहा, ' ऐसा नहीं होना चाहिए।' हिंसा में कम से कम 30 लोग मारे गए हैं और सैकड़ों घायल हो गए हैं।

सीएम ने कहा, 'कुछ लोगों ने जान गंवा दी और वाहनों को आग लगा दी गई और सरकारी संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाया गया। भीड़ ने मीडिया की कुछ ओबी वैन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया।' उन्होंने कहा, 'जिन लोगों ने भी कानून को अपने हाथों में लिया उन्हें सजा दी जाएगी। हमने कुछ दोषियों की पहचान कर ली है, जिनमें सुरक्षाबलों पर गोलियां चलाने वाले लोग भी शामिल हैं, इनमें से कुछ को पकड़ लिया गया है और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।'  पहली कार्रवाई के तौर पर पंचकूला के डीएसपी को निलंबित किया गया है।

नई दिल्ली(26 अगस्त): साध्वी से रेप मामले में दोषी करार दिए गए डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को रोहतक जिले के सुनरिया स्थित एक जेल में रखा गया है।

- रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्हें अलग सेल में रखा गया है। अन्य कैदियों से इतर राम रहीम के लिए खास बंदोबस्त किए गए हैं।

- रिपोर्ट्स के अनुसार जेल में उनके पीने के लिए मिनरल वॉटर का इंतजाम किया गया। बता दें कि पंचकूला स्थित स्पेशल सीबीआई कोर्ट से उन्हें हेलिकॉप्टर से रोहतक लाया गया था।

- बताया जा रहा है कि गुरमीत राम रहीम को जेल में एक असिस्टेंट भी मुहैया कराया गया है जो उनकी जरूरतों का ध्यान रखेगा। इसके अलावा वह जेल में अपने कपड़े पहन सकते हैं जबकि अन्य कैदियों को जेल से मिले कपड़े पहनने होते हैं।

- रोहतक के उपायुक्त अतुल कुमार ने बताया, 'गुरमीत राम रहीम को (रोहतक के) सुनरिया में एक जेल में रखा गया है। जेल के आसपास सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। सीबीआई के वकील एच पी एस वर्मा के मुताबिक पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत के जज जगदीप सिंह ने गुरमीत को दोषी करार देने के बाद कहा कि दी जाने वाली सजा की अवधि 28 अगस्त को तय की जाएगी

- गुरमीत को दोषी ठहराए जाने के तुरंत बाद सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के समर्थकों ने हंगामा शुरु कर दिया और सुरक्षा बलों के साथ उनकी झड़प हुई, जिसमें कम से कम 30 लोग मारे गए और 250 से ज्यादा जख्मी हुए। पंचकुला में 28 लोगों की जान गई जबकि

नई दिल्ली(26 अगस्त): पंचकूला हिंसा के बाद केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हाईलेवल बैठक बुलाई है। बैठक में पंजाब और हरियाणा में हुई हिंसा को लेकर चर्चा होगी। 

Page 2 of 17
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…