नई दिल्ली (23 अगस्त): अब वर्तमान समय में दिनोंदिन नयी नई टेक्नोलॉजी आ रही है अभी वर्तमान समय में एक टेक्नोलॉजी स्वास्थ्य को लेकर आई है। शोधकर्ताओं ने मकड़ी के जाले से दिल की मांसपेशीय टिशू बनाए हैं। इन टिशू का निर्माण यह जांच करने के लिए किया गया है कि 'कृत्रिम रेशम प्रोटीन' हृदय के टिशू के निर्माण के लिए उपयुक्त हो सकते है या नहीं। इस्केमिक बीमारियों- जैसे कार्डियक इन्फ्रेक्शन से हृदय की मांसपेशीय कोशिकाओं की स्थायी हानि का कारण बनती है। इसकी वजह से

दिल की कार्यक्षमता कम हो जाती है, जिसका दिल के कार्य पर असर पड़ता है। वहीँ जर्मनी के इरलगेन-नर्नबर्ग (एफएयू) स्थित फ्रेडरिक एलेक्जेंडर विश्वविद्यालय के शोधकतार्ओं के अनुसार, रेशम कृत्रिम दिल के टिशू बनाने में कारगर हो सकता है। रेशम की संरचना व यांत्रिक स्थिरता देने का कार्य फाइब्रोनिन प्रोटीन करता है। शोधकर्ताओं के अनुसार यह टेक्नोलॉजी’ बहुत कारगार साबित होगी जो की दिल के मरीजों के लिए काफी मदगार साबित होगी

 

राजस्थान के कोटा एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के कृषि वैज्ञानिक 24 मई यानी कल देश ही नहीं पूरी दुनिया को एक बड़ी सौगात देने जा रहे हैं। यहां के कृषि वैज्ञानिकों ने पालक, गाजर और सेजना के ऐसे कैप्सूल तैयार किए हैं जो कब्ज, ब्लडप्रेशर, हृदय रोग और डायबिटीज के रोगियों के लिए फायदेमंद हैं। प्रोटीन, मिनरल, विटामिन, और अन्य आवश्यक पोषक तत्वों के मिश्रण वाले इन कैप्सूल में रोग प्रतिरोधक क्षमता भी है।

कल से कोटा में शुरू होने जा रहे 'राजस्थान ग्लोबल एग्रोटेक मीट' में इस लांच किया जाएगा। इसे कोटा कृषि विश्वविद्यालय की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ.ममता तिवाड़ी ने तैयार किया है। तिवाड़ी का कहना है कि महंगी और साइड इफेक्ट्स वाली दवाओं से लोगों को बचाने के लिए कोटा कृषि विवि में उन्होंने लैब, रिसर्च सेंटर के साथ पूरी फूड प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित की है। जिसमें ये कैप्सूल तैयार किए जा रहे हैं।

राजस्थान के कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने बताया कि 24 मई से शुरू हो रहे ग्राम में 10 देशों के कृषि विशेषज्ञ आमंत्रित किए गए हंै, जिनसे नई तकनीकी का आदान-प्रदान किया जाएगा। कृषि मंत्री ने बताया कि ग्राम के आयोजन से किसानों को नवीनतम तकनीकी की जानकारी के साथ ही लहसून, धनिया और स्थानीय उपज पर आधारित निवेश के लिए नए द्वार खुलेंगे।

नई दिल्ली (20 अगस्त): रिलायंस जियो ने 1500 रुपये में फीचर फोन देने का ऐलान किया है। हालांकि 3 साल के बाद उस राशि को रिफंड कर दिया जाएगा, लेकिन अब जिया को टक्कर देने के लिए एक नया फीचर फोन बाजार में आ गया है।

भारतीय कंपनी Detel ने इस फीचर फोन को लांच किया है। इस मॉडल का नाम है डी-1। कंपनी ने इस फीचर फोन की कीमत 299 रुपए रखी है, वो भी होम डिलीवरी के साथ। इस फोन को कंपनी की वेबसाइट http://detel-india.com पर बुक किया जा सकता है।

फोन के फीचर्स...

- यह सिंगल सिम फोन है।

- इसमें 1.44 इंच का ब्लैक एंड व्हाइट डिस्प्ले दिया गया है।

- इसमें 650mAh की बैटरी दी गयी है।

- एक बार फुल चार्ज होने के बाद यह 15 दिन तक स्टैंडबाय सपोर्ट देगी।

- इसमें एक टॉर्च और एफएम भी दिया गया है।

- फोन में वाइब्रेशन मोड और लाउड स्पीकर की भी सुविधा है।

- इस फोन में 4जी सपोर्ट नहीं दिया गया है।

 

नई दिल्ली (21 अगस्त): भारत-श्रीलंका के बीच 5 वनडे मैचों की सीरीज के पहले मैच में भारत ने श्रीलंका को 9 विकेट से हराकर सीरीज में बनाई 1-0 की बढ़त बना ली। श्रीलंका की ओर से दिए गए 217 रनों के लक्ष्य को भारत ने 28.5 ओवर में एक विकेट खोकर हासिल कर लिया। भारत की ओर से शिखर धवन ने 132 जबकि विराट ने 82 रनों की पारी खेली। भारत और श्रीलंक के बीच खेले गए पहले वनडे मैच में शिखर धवन की शानदार फॉर्म जारी रही। धवन ने टेस्ट सीरीज के अपने बेहतरीन प्रदर्शन को जारी रखते हुए पहले वनडे में शानदार शतक ठोका। धवन सिर्फ 71 गेंदों में शतक लगाकर श्रीलंका में सबसे तेज शतक लगाने वाले भारतीय खिलाड़ी बन गए।

धवन ने शानदार खेल दिखाते हुए बेहतरीन बल्लेबाजी की और अपने वनडे करियर का 11वां शतक ठोका। धवन ने 71 गेंदों में 140 के स्ट्राइक रेट के साथ बल्लेबाजी करते हुए शतक लगाया। धवन ने शतक लगाने के दौरान 16 चौके और 2 छक्के ठोके। रोहित के साथ पारी का आगाज करने उतरे शिखर ने आते ही तेजी से रन बनाए और आक्रामक बल्लेबाजी की।

श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 2 और अब दांबुला में खेले गए पहले वनडे में शतक लगाकर शिखर धवन ने इस श्रीलंकाई दौरे पर 25 दिनों में तीसरा शतक जड़ने का कारनामा किया है। श्रीलंका में सबसे तेज सेन्चुरी लगाने वाले इंडियन भी बन गए। साथ ही धवन श्रीलंका की धरती पर वनडे में सबसे तेज शतक लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज बने हैं।

नई दिल्ली (21 अगस्त): आज सूर्यग्रहण लगने जा रहा है। भारतीय समय के मुताबिक यह ग्रहण रात में 9.15 मिनट से शुरु होगा और रात में 2.34 मिनट पर खत्म होगा। भारत में इस दौरान रात रहेगी तो यहां पर कहीं भी सूर्य ग्रहण दिखाई नहीं देगा। यह ग्रहण यूरोप, उत्तर/पूर्व एशिया, उत्तर/पश्चिम अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका में पश्चिम, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत, अटलांटिक, आर्कटिक की ज्यादातर हिस्सों में दिखेगा। 99 सालों बाद अमेरिकी महाद्वीप में पूर्ण सूर्यग्रहण होगा। अमेरिका में सुबह 10.15 मिनट से सूर्यग्रहण ऑरेगन के तट से दिखने लगेगा और दक्षिण कैरोलीना के तट पर दोपहर 2.50 बजे खत्म होगा। उत्तरी अमेरिका के सभी हिस्से में आंशिक सूर्यग्रहण देखा जा सकेगा।

सूर्यग्रहण पर क्या करें और क्या नहीं...

- पौराणिक मान्यताओं के अनुसार सूर्यग्रहण के बाद पवित्र नदियों और सरोवरों में स्नान कर देवता की आराधना करनी चाहिए

- स्नान के बाद गरीबों और ब्राह्मणों को दान देने की परंपरा है। मान्यता है कि इससे ग्रहण के प्रभाव में कमी आती है

- सूर्यग्रहण के बाद लोग गंगा, यमुना, गोदावरी आदि नदियों में स्नान के लिए जाते हैं और दान देते हैं

- मान्यता के मुताबिक सूर्यग्रहण में ग्रहण शुरु होने से चार प्रहर पूर्व भोजन नहीं करना चाहिये।

- ग्रहण के दिन पत्ते, तिनके, लकड़ी, फूल आदि नहीं तोड़ना चाहिए

- मिथक है कि गर्भवती स्त्री को सूर्यग्रहण या चंद्रग्रहण नहीं देखना चाहिए। क्योंकि माना जाता है कि उसके दुष्प्रभाव से शिशु को प्रभावित कर सकता है।

- मान्यता  के मुताबिक सूर्यग्रहण के समय बाल और वस्त्र नहीं निचोड़ने चाहिए और दांत भी नहीं साफ करने चाहिए। ग्रहण के समय ताला खोलना, सोना, मल-मूत्र का त्याग करना और भोजन करना - ये सब कार्य वर्जित हैं

- सूर्यग्रहण या चंद्रग्रहण के दौरान किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत को बिल्कुल मना किया जाता है. मान्यता है कि इस दौरान शुरु किया गया काम अच्छा परिणाम नहीं देता है।

नई दिल्ली (21 अगस्त): डोकलाम विवाद को लेकर चीन अब ज्यादा आक्रामक होता दिख रहा है। 15 अगस्त को उसकी सेना ने लद्दाख में घुसपैठ की थी, जिनको भारतीय सैनिकों ने वापस खदेड़ा था। ऐसे में अब खबर आ रही है कि चीनी सेना की सबसे बड़ी कमांड वेस्टर्न थिएडर ने युद्ध का अभ्यास किया है।

चीनी सेना के वेस्टर्न थिएटर कमांड को ही भारतीय सीमा से सटे इलाकों में सुरक्षा की जिम्मेदारी मिली हुई है। जो वीडियो सामने आया है उसमें युद्ध अभ्यास में टैंक और मिसाइल का इस्तेमाल होता दिख रहा है। हालांकि अभी ये साफ नहीं हो पाया है कि चीन की सेना ने ये युद्ध अभ्यास चीन के किस इलाके में किया है।

बता दें कि डोकलाम विवाद पर चीन बार-बार भारत को युद्ध की धमकी दे रहा है। हाल ही में चीन ने कहा था कि अगर भारत ने डोकलाम से अपनी सेना नहीं हटाई तो वह गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे। हमारे हथियार और सेना भारत के मुकाबले काफी बेहतर है। भले ही भारत ने पिछले दिनों यूएस और रूस से कई तरह के हथियार खरीदे हों, लेकिन चीन के हथियारों के तुलना में वे काफी हल्के हैं।

 

क्या है पूरा विवाद?

दरअसल डोकलाम जिसे भूटान में डोलम कहते हैं। करीब 300 वर्ग किलोमीटर का ये इलाका चीन की चुंबी वैली से सटा हुआ है और सिक्किम के नाथुला दर्रे के करीब है। इसलिए इस इलाके को ट्राई जंक्शन के नाम भी जाना जाता है। ये डैगर यानी एक खंजर की तरह का भौगोलिक इलाका है, जो भारत के चिकन नेक यानी सिलिगुड़ी कॉरिडोर की तरफ जाता है। चीन की चुंबी वैली का यहां आखिरी शहर है याटूंग। चीन इसी याटूंग शहर से लेकर विवादित डोलम इलाके तक सड़क बनाना चाहता है।

इसी सड़क का पहले भूटान ने विरोध जताया और फिर भारतीय सेना ने। भारतीय सैनिकों की इस इलाके में मौजूदगी से चीन हड़बड़ा गया है। चीन को ये बर्दाश्त नहीं हो रहा कि जब विवाद चीन और भूटान के बीच है तो उसमें भारत सीधे तौर से दखलअंदाजी क्यों कर रहा है। 16 जून से भारत और चीन की सेना के बीच गतिरोध जारी है।

नई दिल्ली(8 अगस्त): तृणमूल कांग्रेस से बर्खास्त किए गए त्रिपुरा के छह विधायक सोमवार को औपचारिक रूप से भाजपा में शामिल हो गए। इन लोगों ने 17 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार राम नाथ कोविंद को वोट दिया था।

- केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, भाजपा के उत्तर पूर्व डेमोक्रैटिक अलायंस (एनईडीए) संयोजक हिमंत बिश्व शर्मा, प्रदेश भाजपा प्रमुख बिप्लब कुमार देब और प्रदेश पार्टी पर्यवेक्षक सुनील देवधर ने इन छह विधायकों का स्वागत किया।

- इन विधायकों का नेतृत्व त्रिपुरा विधानसभा में विपक्ष (कांग्रेस) के पूर्व नेता सुदीप रॉय बर्मन कर रहे थे। सुदीप के अलावा अन्य विधायकों में आशीष कुमार साहा, दीबा चंद्र ह्रंगखॉल, बिश्व बंधु सेन, प्राणजीत सिंह रॉय और दिलीप सरकार शामिल हैं। इन विधायकों ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से 5 अगस्त को दिल्ली में मुलाकात की थी। विधायकों के साथ ही इनके 25 हजार समर्थक भी बीजेपी के सदस्य बन गए। तृणमूल कांग्रेस महासचिव पार्थ चटर्जी ने 3 जुलाई को कहा था कि पार्टी इन छह विधायकों से कोई संबंध नहीं रखेगी।

नई दिल्ली (8 अगस्त): दिल्ली के  लाल किले में पिछले एक हफ्ते में 11 'आतंकवादियों' ने 'घुसपैठ' की कोशिश की। कभी कोई 'मानव बम' बनकर पहुंचा तो कभी कोई आर्मी या पुलिस की वर्दी पहनकर। हद तो तब हो गई जब एक शख्स ने फर्जी आई कार्ड के जरिए अंदर घुसने की कोशिश की। एक 'आतंकवादी' तो भगवा चोला पहनकर घुसने की कोशिश करने लगा। लेकिन इन सभी को फौरन दबोच लिया गया।

चौंकिए नहीं... दरअसल लाल किले की सुरक्षा जांचने के लिए दिल्ली पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स की सिक्यॉरिटी विंग लाल किले में बार-बार 'डमी टेररिस्ट' भेजकर सुनिश्चित करने में जुटी हुई है कि सुरक्षा इंतजाम में कहीं कोई चूक न रह जाए। 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर होने वाले भव्य समारोह की वजह से लाल किले को , सील कर दिया गया है। चप्पे चप्पे पर सुरक्षाबल तैनात हैं। चारों ओर सीसीटीवी की पैनी नजरें हैं। इन सबकी सतर्कता परखने के लिए सुरक्षा एजेंसियों से जुड़े लोग अपनी असली पहचान छिपाते हुए डमी टेररिस्ट बनकर सुरक्षा चक्र तोड़ने की कोशिश करते हैं।

Page 2 of 16
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…