×

Warning

JUser: :_load: Unable to load user with ID: 558

अगर आपके हाथ में पैसा नहीं ठहरता या फिर घर के सदस्यों की बीमारी में पैसा खर्च होता है तो वास्तु में इसका समाधन है।

वास्तु के अनुसार घर में कुछ चीजों को सही करने से घर में सकारात्मक एनर्जी आने लगती है। वास्तु के कुछ ऐसे टिप्स जिनकी मदद से घर में वास्तु के अनुसार कुछ बदलाव करके आर्थिक स्थिति को सही किया जा सकता है।

साउथ वेस्ट कोने रखें मेटल वास्तु के अनुसार घर के साउथ वेस्ट कोने में एक भारी वजन की मेटल की कोई चीज रख दें। इससे धन के नए साधन बनते हैं। नार्थ जोन में हो नीला रंग इस बात का ध्यान रखें कि घर के नार्थ जोन में नीला रंग होना चाहिए।

इस जोन में लाल रंग भूलकर भी न कराएं। यही नहीं घर के किचन और टॉयलेट आसपास नहीं होने चाहिए। किचन में ना रखें ये चीजें धन आगमन के लिए ये बहुत जरूरी है कि किचन में डस्टबिन, झाड़ू, वॉशिंग मशीन और मिक्सर गाइंडर न रखें। किचन में इन चीजों के होने से पैसा घर से बाहर जाता है और करियर में सफलता के मौके भी कम हो जाते हैं।

दरवाजों पर दें ध्यान अपने घर की दरवाजे बनवाते समय इस बात का ध्यान रखें कि दरवाजे 2, 4, 6, 8 की संख्या में हों। यही नहीं घर का मुख्य दरवाजा अगर सिंगल, डबल औक ट्रिपल पोल्डर में होगा तो ये घर की आर्थिक स्थिति के लिए अच्छा है।

''शर्म से मैं अपनी गर्लफ्रेंड को नहीं बता पाता हूं, क्योंकि मैं बताऊंगा तो वह शायद मुझे छोड़ देगी। हालांकि हर महीने उसे पढ़ने के लिए पैसे भेजता हूं। दिल्ली के जिस मालवीय नगर के इलाके में रहता हूं, वहां भी जो मुझे जानते हैं वो मेरे काम को लेकर...

हर कोई सुंदर त्वचा पाने के लिए बहुत से उपाएं करते है जैसे कि महंगे प्रोडक्ट का इस्तेमाल या ब्यूटी पार्लर जाना. खूबसूरत त्वचा के लिए हम आपको कुछ खास और घरेलू उपाय बतायेगे जिसे आपना के आप दमकती त्वचा पा सकेगी.

त्वचा निखारने के आसान तरीके

  1. एक चम्मच शहद और कुछ बूंदे नींबू के रस को मिलाके एक मिश्रण तैयार कर लें और चेहरे पर लगाएं. इससे झुर्रियाँ दूर होती है साथ ही होने से बचाती है.
  2. एक चम्मच गुलाबजल और दूध में कुछ बूंद नींबू का रस मिलाएं फिर इसे चेहरे पर मसाज करते हुए लगाएं. इससे त्वचा कोमल बनने के साथ चेहरे में चमक आती है.
  3. स्क्रबिंग के लिए टमाटर सबसे अच्छा विकल्प है. इसके लिए टमाटर के टुकड़े को चेहरे पर हल्का-हल्का मसाज करें. इससे चेहरे की सारी गंदगी साफ होती है और चेहरे में अच्छा निखार आता है. स्क्रब त्वचा के लिए बहुत जरुरी है इससे मृत कोशिकाएं दूर होती है और धुलमिट्टी साफ़ होती है.
  4. एक-एक चम्मच नींबू का रस, गुलाब जल और पिसा हुआ पुदीना का मिश्रण तैयार कर लें और 1 घंटे रहने दें. फिर इस मिश्रण को चेहरे पर लगाएं. इसे 20 मिनट चेहरे पर लगे रहने दे. फिर पानी से धो लें. इससे चेहरे से अतिरिक्त तेल दूर होता है.
  5. चेहरे को निखारने के लिए एक-एक चम्मच संतरे का रस, शहद और गुलाब जल मिलाकर चेहरे और गर्दन पर लगाएं. इससे चेहरे पर अच्छा निखार आता है.
  6. चहरे में कसावट लाने के लिए चेहरे व गर्दन पर शहद लगाएं और मसाज करें. फिर कुछ समय बाद गुनगुने पानी से चेहरे को धो लें.
  7. डार्क सर्कल को दूर करने के लिए आंखों के नीचे बादाम के तेल और शहद लगाएं और हल्का-हल्का मसाज करें. फिर पानी से धो लें.

आपको बताते चले कि प्यार में आप एक दूसरे को बहुत लाइक करते हैं हो बट अट्रैक्शन में दूसरी तरह का लाइक होता है।जब आप लव में होते हो तो आपका पाटनर ही आपके लिए सब कुछ होता है पर पूरी दुनिया एक तरफ अलग और आपका पार्टनर अलग है।

आप अपने पार्टनर को इतना प्यार करते हो कि आप उसके बिना रह नहीं सकते । अट्रैक्शन के मामले में ऐसा कुछ नहीं होता है ।2 दिन का अट्रैक्शन होता है फिर खत्म ।

अगर अट्रैक्शन की बात की जाए तो इसमें जरूरत जरूरत होती है एक बार ही जरूरत खत्म हो गई तो अट्रेक्शन खत्म।

प्यार में एक दूसरे पर ट्रस्ट होता है बट अट्रैक्शन में शक होता है ।

गौरतलब है कि आपने अक्सर देखा होगा यह सुना होगा कि किसी के ब्रेकअप हो गया किसी के किसी का रिलेशनशिप खत्म हो गया आदि । अगर ऐसा किसी के साथ होता है तो आप उनके रिलेशनशिप प्रॉब्लम नहीं कह सकते आप इसे थोड़ा बहुत अट्रैक्शन कह सकते हो।

प्यार में लाइफ अच्छी लगती है बट अट्रेक्शनमें  लाइफ हार्ड। अगर आप किसी के साथ यू लव में हो तो आपको हर लाइफ भी अच्छी लगती है आपको कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आपके पास हजार कानोट है कि सौ का ।बट अट्रैक्शन के मामले में अगर लाइफ हार्ड लगती है तो रिलेशनशिप टूट जाता है ।

आपने अक्सर मैरिज लाइफ लव मैरिज लाइफ या रिलेशनशिप को टूटते हुए सुना या देखा होगा इन सब रिलेशनशिप के टूटने का कारण प्यार का ना होना था ।

Tuesday, 24 March 2015 09:00

Aliquam eget arcu

Written by

Suspendisse at libero porttitor nisi aliquet

सेहत :  कहा जाता है की उम्र जैसे जैसे बढ़ती जाती है। वेसे वेसे हमारे सरीर की हड्डिया कमजोर होने लगती है और हर तराह के दर्द साथ ले आती है।

वैसे तो ऐसे रोग हमारे घर के बड़े बुढो को ज्यादा होते है पर आज कल के नवजवानों में भी इस परेशानी को पाया जा रहा है ।

सर्दियों में जोड़ों के दर्द की समस्या आम सुनने को मिलती हैं। जोड़ों का दर्द शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है। यह दर्द घुटनों, कोहनियों, गर्दन, बाजूओं और कूल्हों पर हो सकता है।  लंबे समय तक किसी एक जगह पर ही बैठे रहने, सफर करने से घुटनें अकड़ जाते हैं और दर्द करने लगते हैं। इसी को जोड़ों का दर्द कहते हैं। अगर सही समय पर इसका इलाज ना किया जाए तो यह गठिया का रूप भी ले सकता है। जोड़ दर्द होने की वजह  गलत खान पान ही है। हड्डियों में मिनरल्स की कमी और बढ़ती उम्र भी इसकी एक वजह से हो सकती है।

जोड़ दर्द होने के लक्षण

खड़े होने, चलने और हिलने जुलने समय दर्द

सूजन और  अकड़न

चलते समय जोड़ों पर अटकन लगना

सुबह के समय जोड़ों का अकड़ाव होना

दर्द का आयुर्वेदिक इलाज़

जोड़ों के दर्द को ठीक करने के लिए आपको बहुत सारे मसाजर, तेल आदि मार्कीट में मिल जाएंगे लेकिन पैसे की खूब बर्बादी करने के बाद भी जोड़ों के दर्द से राहत नहीं मिलती। इसकी जगह पर अगर आप कुछ घरेलू नुस्खे अपनाएंगे तो इस दर्द से आपको जल्द राहत मिलेंगी। इन नुस्खों को अपने चिकित्सक की परामर्श के बिना ना अपनाएं।

सामग्रीः

10ग्राम- काली उड़द दाल

4  ग्राम -अदरक  (पिसा हुआ)

2 ग्राम -कपूर (पिसा हुआ)

50 मि.ली.- सरसों का तेल

विधिः काली साबुत उड़द दाल, अदरक, कपूर को सरसों के तेल में 5 मिनट तक गर्म करें फिर तीनों चीजों को छानकर तेल से बाहर निकाल लें। इस गुनगुने तेल से जोड़ों की मसाज करें। जल्द ही जोड़ों के दर्द से राहत मिलेगी। ऐसा दिन में 2 से 3 बार करें।

इसके अलावा आप इन नुस्खों को भी अपना सकते हैं।

अमरूद की 4-5 कोमल पत्तियों को पीसकर उसमें थोड़ा सा काला नमक मिलाकर रोजाना खाएं। इससे दर्द से राहत मिलेगी।

काली मिर्च को तिल के तेल में जलने तक गर्म करें और ठंडा होने पर उसी तेल से जोड़ों की मालिश करें।

गाजर को पीसकर इसमें थोड़ा सा नींबू का रस मिलाकर रोजाना सेवन करें।

दर्द वाले स्थान पर अरंडी का तेल लगाकर, उबाले हुए बेल के पत्तों को गर्म गर्म बांधे इससे भी तुरंत राहत मिलेगी।

2 चम्मच बड़े शहद और 1 छोटा चम्मच दालचीनी पाऊडर सुबह शाम एक गिलास गुनगुने पानी  से लें।

सुबह के समय सूर्य नमस्कार और प्राणायाम करने से भी जोड़ों के दर्द से छुटकारा मिलता है।

1 चम्मच मेथी के बीच रातभर पानी में भिगोकर रखें। सुबह पानी निकाल दें और मेथी के बीजों को अच्छे से चबाकर खाएं।

गठिए के रोगी 4-6 लीटर पानी पीने की आदत डाल लें। इससे मूत्रद्धार के जरिए यूरिक एसिड बाहर निकलता रहेंगा।

ध्यान रखेंः कोई भी नुस्खा अपनाने से पहले डॉक्टरी सलाह अवश्य लें  

Tuesday, 24 March 2015 09:00

Fazen buma mipan

Written by

Suspendisse at libero porttitor nisi aliquet vulputate vitae at velit. Aliquam eget arcu magna, vel congue dui. Nunc auctor mauris tempor leo aliquam vel porta ante sodales. Nulla facilisi. In accumsan mattis odio vel luctus.

Tuesday, 24 March 2015 09:00

Saken mipo jace

Written by

Suspendisse at libero porttitor nisi aliquet vulputate vitae at velit. Aliquam eget arcu magna, vel congue dui. Nunc auctor mauris tempor leo aliquam vel porta ante sodales. 

Tuesday, 24 March 2015 09:00

Lizan mipan keran

Written by

Suspendisse at libero porttitor nisi aliquet vulputate vitae at velit. Aliquam eget arcu magna, vel congue dui. Nunc auctor mauris tempor leo aliquam vel porta ante sodales. 

सुकन्या समृद्धि अकाउंटः योजना

भारत में हर लड़की के लिए पैसे बचाना है। इस विचार पर दोबारा भरोसा जगाते हुए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘सुकन्या समृद्धि अकाउंट योजना’ शुरू की। यह लघु बचत योजना बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान का हिस्सा है। इसे घरेलू बचत का प्रतिशत बढ़ाने के लिए सरकार की एक पहल भी माना जा रहा है, जो 2008 में जीडीपी का 38 प्रतिशत थी, जबकि 2013 में घटकर 30 प्रतिशत रह गई। यह योजना माता-पिता को अपनी लड़की की शिक्षा और भविष्य के लिए पैसे बचाने के लिए प्रोत्साहित करेगी।

अभिभावक को खोलना होगा अकाउंटः माता-पिता या कानूनी अभिभावक अधिकतम दो लड़कियों के लिए यह खाता खोल सकते हैं।

जुड़वा या तीन बच्चियों का जन्म एक साथ होने की स्थिति में अधिकृत चिकित्सालयों से प्रमाण पत्र देने पर उन्हें भी योजना में शामिल किया जा सकेगा

हितग्राही के नाम पर अकाउंटः सुकन्या समृद्धि योजना में लड़की के नाम पर ही अकाउंट खोला जा सकता है। जमाकर्ता (अभिभावक) एक व्यक्ति होगा,

जो नाबालिग लड़की की ओर से अकाउंट में पैसा जमा करेगा।एक लड़की एक अकाउंटः एक लड़की के नाम पर सिर्फ एक ही खाता खोला जा सकेगा।

अकाउंट कहां खुलेगाः सुकन्या समृद्धि अकाउंट पोस्ट ऑफिस या अधिकृत बैंकों (इनमें से कुछ बैंक हैं- भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, कैनरा

बैंक, आंध्रा बैंक, यूसीओ बैंक और इलाहाबाद बैंक) में खोले जा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि अकाउंट के बारे में ज्यादा जानकारी

अकाउंट ट्रांसफर हो सकता हैः अकाउंट को एक हजार रुपए से खोला जा सकता है।

लड़की के एक शहर से दूसरे शहर जाने पर इसे मूल स्थान से भारत के किसी भी शहर में ट्रांसफर किया जा सकता है।

न्यूनतम भागीदारीः हर साल में कम से कम एक हजार रुपए हर खाते में जमा होने चाहिए।

अधिक से अधिक 1,50,000 रुपए जमा किए जा सकते हैं। एक वित्त वर्ष में कितनी बार पैसे जमा किए जाए, इस पर कोई पाबंदी नहीं है।

पैसे नगद, चेक या ड्राफ्ट के जरिए जमा किए जा सकते हैं।

अर्थदंडः यदि खाते में हर साल न्यूनतम राशि जमा नहीं कराई गई तो 50 रुपए का अर्थदंड लगाया जाएगा।

ब्याज की दरः इस योजना में ब्याज की दर 9.1 प्रतिशत प्रति वर्ष रखी गई है।

हालांकि, हर साल अप्रैल में इसकी समीक्षा होगी और जो भी बदलाव होगा उसकी जानकारी तत्काल दे दी जाएगी।

ब्याज की गणना सालाना होगी, जिसे सीधे बैंक खाते में जमा करवाया जाएगा।

 अवधिः अभिभावक इस अकाउंट में 14 साल पूरे होने तक ही पैसे जमा करवा सकते हैं। उसके बाद अकाउंट के परिपक्व होने तक कोई राशि जमा करने की जरूरत नहीं है।

निकासीः लड़की की उम्र 18 साल होने के बाद अकाउंट परिपक्व हुए बिना यदि पैसे निकालना है तो जमा की हुई राशि।

(पूर्व वित्त वर्ष के समाप्ति की राशि) का 50 प्रतिशत निकाले जा सकते हैं।

अकाउंट बंद करनाः लड़की की उम्र 21 वर्ष होने पर ही अकाउंट बंद किया जा सकेगा। यदि इसके बाद भी पैसा नहीं निकाला जाता तो उस पर ब्याज मिलता रहेगा।

कराधानः आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत छूट में शामिल। इस धारा के तहत सालाना 1.5 लाख रुपए तक के निवेश पर कर में छूट मिलती है।

ब्याज और पूर्ण परिपक्वता राशि समेत सभी तरह के भुगतान पूरी तरह से करमुक्त हैं।

अकाउंट खोलने के लिए किस-किस दस्तावेज की जरूरत पड़ेगी?

बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र

अभिभावक के पते का प्रमाण पते और फोटो पहचान पत्र (पैन कार्ड, वोटर आईडी, आधार कार्ड)

Page 14 of 17
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…