×

Warning

JUser: :_load: Unable to load user with ID: 558

खेल

नई दिल्ली(18 मार्च): भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे रांची टेस्ट के तीसरे दिन भारतीय बल्लेबाजों ने संभलकर खेलते हुए भारत को अच्छी शुरुआत दी। मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा ने दूसरे विकेट के लिए 102 रनों की साझेदारी की। 

 

- इसी के साथ इन दोनों बल्लेबाजों ने बतौर जोड़ी एक ख़ास रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है।

 

-  मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा की जोड़ी ने भारत के लिए टेस्ट मैचों में किसी भी विकेट के लिए सबसे ज्यादा औसत से दो हज़ार से अधिक रन बनाये हैं।

 

- मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा की जोड़ी ने अब तक टेस्ट मैचों की 37 पारियों में 66.6 की बेहतरीन औसत से कुल 2466 रन जोड़े हैं, इसी के साथ ही इस जोड़ी ने पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली और सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ दिया।

 

- टेस्ट मैचों में बतौर जोड़ी सबसे ज्यादा औसत से रन बनाने के मामले में दूसरा नंबर सौरव गांगुली और सचिन तेंदुलकर के नाम है। जिन्होंने 71 पारियों में 61.4 की औसत से 4173 रन जोड़े है।

 

- तीसरे नंबर पर राहुल द्रविड़ और वीरेंद्र सहवाग की जोड़ी है जिन्होंने टेस्ट मैचों की 58 पारियों में 60.4 की औसत से कुल 3383 रन बनाये है।

 

नई दिल्ली :भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच रांची में खेले जा रहे टेस्‍ट मैच के दोनों दिन ऐसी घटनाएं हुईं कि दर्शक और खिलाड़ी अपनी हंसी नहीं रोक पाए।

मैच के पहले दिन उस समय नाटकीय क्षण आए थे जब टीम इंडिया के विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा ने ऑस्‍ट्रेलिया के कप्‍तान स्‍टीव स्मिथ के खिलाफ अजीबोगरीब अपील की थी।

यह पूरी घटना इस तरह से हुई थी कि विकेट पर मौजूद दोनों बल्‍लेबाज, टीम इंडिया के खिलाड़ी तो ठीक अम्‍पायर भी अपनी हंसी नहीं रोक पाए थे।

 मैच के दूसरे दिन ऐसी घटना तब सामने आई जब उमेश यादव की गेंद पर ऑस्‍ट्रेलियाई बल्‍लेबाज ग्‍लेन मैक्‍सवेल का बल्‍ला दो हिस्‍सों में टूट गया।

अपनी तेज गेंदबाजी के इस 'कमाल' को देखकर ने बाजू उठाकर अपनी ताकत का अहसास विपक्षी बल्‍लेबाज को करा दिया।

हालांकि पहली ही गेंद पर बल्‍ला टूटने के बाद भी मैक्‍सवेल के बल्‍ले का कहर जारी रहा और उन्‍होंने शतकीय पारी (104 रन )खेलकर ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर 450 रन के पार पहुंचाने में कप्‍तान स्मिथ के साथ अहम योगदान दिया।

स्मिथ ने मैच में नाबाद 178 रन बनाए। टीम इंडिया ने शुक्रवार को पहले दिन के स्‍कोर चार विकेट पर 299 रन से आगे खेलना प्रारंभ किया। 

मैच के दूसरे दिन की शुरुआत टीम इंडिया के तेज गेंदबाज उमेश यादव ने धमाकेदार अंदाज में की और पहली ही गेंद पर ग्लेन मैक्सवेल का बल्ला दो हिस्सों में तोड़ दिया।

 यादव की इस गेंद पर मैक्‍सवेल कुछ देर को ठगे से रह गए। आधा बल्‍ला हाथ में लिए उन्‍हें यह सोचने में कुछ वक्‍त लगा कि आखिर हुआ क्‍या है।

यादव भी इस मौके पर मजाक करने से नहीं चूके। उन्‍होंने अपना हाथ उठाकर अपनी ताकत का अहसास करा दिया। मैक्‍सवेल और टीम इंडिया के सहयोगी भी बाद में इस मौके का मजा लेते नजर आए।

यह वाकया जिस समय हुआ उस समय मैक्‍सवेल 82 रन पर नाबाद थे।दूसरे दिन ही एक मौके पर उमेश यादव गेंद फेंकने के तुरंत पहले संतुलन नहीं बना पाए और गिर गए।

 

मुंबई: ऑस्‍ट्रेलिया और भारत 'ए' टीम के बीच शुक्रवार से यहां प्रारंभ होने वाला तीन दिवसीय अभ्‍यास मैच, दोनों ही टीमों के लिए महत्‍वपूर्ण साबित होगा। जहां मेहमान ऑस्‍ट्रेलिया टीम को इस मैच के जरिये भारत के विकेट पर अभ्‍यास करने का मौका मिलेगी, वही  भारत 'ए' टीम के प्रतिभाशाली खिलाड़ी अच्‍छा प्रदर्शन कर टीम इंडिया में प्रवेश का अपना दावा मजबूत करना चाहेंगे। मैच में भारत 'ए' के कप्‍तान हार्दिक पांड्या और कुलदीप यादव पर खास नजर होगी।

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह गगनचुंचबी सिक्सर उड़ाने के लिए जाने जाते है। वर्ल्ड क्रिकेट में युवराज सिंह को गेंद को सीमा रेखा के पार पहुंचाने के लिए जाना जाता है। युवराज ने हाल ही अपने इस बैटिंग मैजिक को फिर साबित किया है।

हालांकि यह कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं था फिर भी युवराज ने इस मैच में लगातार तीन सिक्सर जड़ा जिसके बाद पूरा स्टेडियम तालियों से गूंजने लगा। युवराज सिंह ने सैय्यद मुश्ताक अली टी20 ट्रॉफी के दौरान मध्य क्षेत्र के खिलाफ गए एक मैच में अपनी बल्लेबाजी के अनूठे हुनर का फिर परिचय दिया।

मध्य क्षेत्र ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट के नुकसान पर 167 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। टारगेट का पीछा करते हुए उत्तर क्षेत्र की टीम 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 163 रन ही बना सकी और मैच 4 रनों से हार गई। इस मैच में युवराज ने सिरफ 20 गेंदों में चार छक्के उड़ाते हुए 33 रन ठोके। इनमें से तीन छक्के उन्होंने लगातार तीन गेंदों पर जड़े। 

गौर हो कि अंतरराष्ट्रीय टी20 क्रिकेट में किसी तेज गेंदबाज के एक ओवर में 6 छक्के लगाने का विश्व रिकॉर्ड भी युवी के नाम है, जो उन्होंने 2007 के टी20 विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ स्टुअर्ट ब्रॉड के ओवर में लगाया था।

Page 4 of 6
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…