×

Warning

JUser: :_load: Unable to load user with ID: 558

खेल

नयी दिल्ली: चैम्पियन क्रिकेटर और राज्यसभा सांसद सचिन तेंदुलकर ने आंध्रप्रदेश के पुट्टमराजू केंद्रिगा के बाद सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत महाराष्ट्र में उस्मानाबाद के दोंजा गांव को गोद लिया है।

तेंदुलकर ने इस गांव के विकास के लिये सांसद कोष में से चार करोड़ रुपये मंजूर किये हैं। यह गोवा में नया स्कूल बनाने, जलापूर्ति योजना, सड़क और सीवेज लाइन बनाने पर खर्च होगा। एक विज्ञप्ति के अनुसार शुरुआती काम किया जा चुका है और विभिन्न कामों के लिये टेंडर जिला परिषद चुनाव के बाद जारी किया जाएगा।

इस बारे में उस्मानाबाद जिले के सहायक आयुक्त आयुष प्रसाद ने कहा, ‘आयुक्त कार्यालय गांववासियों के साथ मिलकर काम कर रहा है और गांव के संपूर्ण विकास के पूरे काम किये जायेंगे। हम महान क्रिकेटर और राज्यसभा सदस्य सचिन तेंदुलकर जी के शुक्रगुजार हैं जिन्होंने यह गांव चुना।’ तेंदुलकर ने जब यह गांव गोद लिया था तब यहां 610 में से 400 घरों में शौचालय नहीं थे। उसके बाद से 231 शौचालय बन चुके हैं।

मोनाको: ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वा ने ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को ‘गेंदबाजी का ब्रैडमैन’ करार दिया है और कहा कि भारत के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलियाई टीम को उनसे निपटने की जरूरत है। ऑस्ट्रेलिया को पुणे में 23 फरवरी से भारत के खिलाफ 4 टेस्ट की सीरीज खेलनी है और वा का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया को दबाव में धैर्य कायम रखना होगा और अश्विन की गेंदबाजी से निपटने का तरीका ढूंढना होगा।

वा ने यहां बातचीत के दौरान संवाददाताओं से कहा, ‘अश्विन गेंदबाजी के ब्रैडमैन हैं। वह जो कर रहा है वह शानदार है। मुझे लगता है कि वह ऐसा खिलाड़ी है जिससे हमें निपटना होगा। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को अश्विन की गेंदबाजी से निपटने के तरीके ढूंढने होंगे। अगर ऑस्ट्रेलिया ऐसा कर पाया तो हमारे पास मौका होगा। खिलाड़ियों को दबाव में धैर्य कायम रखना होगा।’ भारतीय ऑफ स्पिनर की तारीफ करते हुए वा ने कहा, ‘वह अभी जिस तरह खेल रहा है, वह कई रिकॉर्ड तोड़ने वाला है। अश्विन के आंकड़े बेहतरीन है।’ वा ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के लिए यह सीरीज मुश्किल होगी क्योंकि भारतीय टीम संयोजित है और विराट कोहली की कप्तानी शानदार है।

उन्होंने कहा, ‘भारत अभी काफी अच्छा खेल रहा है और उनकी टीम अच्छी तरह से संयोजित है। सभी अपनी भूमिका में काफी सहज हैं। साथ ही वे स्वदेश में काफी खेल रहे हैं। घरेलू मैदान पर उनको हराना काफी मुश्किल है और पिछले कुछ वषरें में यह साबित हुआ है।’

Page 6 of 6
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…